अगर आप घर या कार लोन पर लेने कि सोच रहें हैं तो आप के लिए ख़ुशख़बरी है। आपके लोन्स सस्ते हो सकते हैं। आरबीआई ने रेपो रेट में 0.50% बेस पॉइंट की कटौती कर सबको चौका दिया है। रेपो रेट अब 7.25% से घटकर 6.75% हो गया है। मंद पड़े रियल एस्टेट में इस कटौती से डिमांड बढ़ सकती है। साथ ही म्यूचुअल फ़ंड्स और स्टॉक्स में भी निवेश बढ़ सकता है। केंद्र पर भी इससे 1,000 करोड़ रुपये के ब्याज़ का बोझ कम हो जाएगा। तीन साल में यह सबसे बड़ी कटौती है।

बैंकों को आरबीआई से मिलने वाले लोन के ब्याज़ दर को रेपो रेट कहा जाता है। इससे प्रभावित हो एसबीआई ने तुरंत ब्याज़ दरों में 0.40% की कटौती की घोषणा कर दी थी। इसके अलावा छोटी बचतों, पीपीएफ़ और डाकघरों में डिपॉज़िट की दरों में भी कमी हो सकती है। फ़िक्सड रेट पर होम या कंप्यूटर लेने वालों पर इस कटौती से फ़र्क नहीं पडेगा क्योंकि इनकी ब्याज़ दरें पहले से तय रहती हैं। मँहगाई पर नियंत्रण रखने के लिए आरबीआई गवर्नर रघुराम राजन ने रेपो रेट में बड़ी कटौती की माँग को पहले कई बार ख़ारिज कर दिया था। मँहगाई दर कम होने पर इस कटौती की घोषणा की गई है। अगर मँहगाई दर कम रही तो 2016 में भी कुछ और कटौती हो सकती है। इस हैरान करने वाली घोषणा पर रघुराम राजन ने कहा, “इसे दिवाली बोनस न समझें। हमें नहीं लगता कि हमने बहुत ज़्यादा कटौती की है। मैं नहीं जानता कि आप मुझे क्या कहेंगें- सैंटा क्लॉज़ या बाज। मैं इस पर ध्यान नहीं देता। मेरा नाम रघुराम राजन है और मुझे जो करना होता है मैं करता हूँ।”

Advertisements